कंप्यूटर का आविष्कार किसने किया था

Related

DRDO Recruitment 2021: अपरेंटिस ट्रेनी पदों के लिए वैकेंसी, जल्द करे आवेदन

DRDO Recruitment 2021: रक्षा अनुसंधान और विकास संगठन, DRDO...

CTET 2021: आवेदन की अंतिम तिथि 25 अक्टूबर तक बढ़ाई गई, जानिए संशोधित पात्रता मानदंड

CTET 2021: केंद्रीय माध्यमिक शिक्षा बोर्ड, सीबीएसई ने सीटीईटी...

Share

कंप्यूटर का आविष्कार किसने किया था (Computer Ka Avishkar Kisne Kiya Tha): जब भी कंप्यूटर की बात आती है। तो अक्सर यह सवाल सब के मन में आ ही जाता है की आखिर इतने उपयोगी व एडवांस्ड डिवाइस का आविष्कार किसने किया था। Mathematician व Inventor, Charles Babbage ने सबसे पहले एक इलेक्ट्रॉनिक कंप्यूटर का आविष्कार किया था।

पर कई लोगों द्वारा यह भी माना जाता है कि 1622 में Abacus जो कि Tim Cranmer के द्वारा बनाया गया था। वह विश्व का सबसे पहला कंप्यूटर था। पर जिस कंप्यूटर का आज हम उपयोग कर रहे है। वह केवल Charles Babbage की कोशिशों के द्वारा ही मुमकिन हो पाया है।

वैसे देखा जाए तो कंप्यूटर की फील्ड में कई सारे वैज्ञानिकों ने अपनी भूमिका निभाई है। सब का अपना-अपना योगदान रहा है। जैसे की John Blankenbaker ने Personal Computer का आविष्कार किया है। वही Adam Osborne ने लैपटॉप का आविष्कार किया है।

पर Charles Babbage द्वारा ही कंप्यूटर बनाने की शुरुवात की गयी थी। और इसी वजह से उन्हें Father of Computer के नाम से जाना जाता है। तो आइये आज के इस आर्टिकल कंप्यूटर का आविष्कार किसने किया के माध्यम से विस्तार से जानेगे की कंप्यूटर का आविष्कार किसने किया था।

कंप्यूटर का आविष्कार किसने किया था (Computer Ka Avishkar Kisne Kiya Tha)

  • कंप्यूटर क्या है?
  • कंप्यूटर का आविष्कार किसने किया था?
  • पहले इलेक्ट्रॉनिक कंप्यूटर का आविष्कार किसने व कब किया था?
  • पहले प्रोग्रामेबल कंप्यूटर का आविष्कार किसने किया था? और कहा पर किया था?Commercial Computer का आविष्कार किसने किया था?
  • पहले इलेट्रॉनिक डिजिटल कंप्यूटर (Electronic Digital Computer) का आविष्कार किसने व कब किया था?
  • पहले पर्सनल कंप्यूटर का आविष्कार कब हुआ था?
  • कंप्यूटर नाम के अनुसार पहले कंप्यूटर का नाम क्या था?
  • किस सन में कंप्यूटर का आविष्कार हुआ था?
  • कंप्यूटर का आविष्कार कब व किसने किया था?
  • पहले पर्सनल डेस्कटॉप कंप्यूटर का आविष्कार किसने किया?
  • इलेक्ट्रॉनिक कंप्यूटर का आविष्कार किसने किया था?
  • लैपटॉप का आविष्कार किसने किया?
  • भारत के पहले कंप्यूटर का नाम क्या है?
  • भारत में कंप्यूटर कब बना?
  • भारत का पहला सुपर कंप्यूटर कौन सा है? और किसने बनाया था?
  • कंप्यूटर का आविष्कार भारत में कब हुआ था?
  • भारत में पहला कंप्यूटर कहाँ और कब लगाया गया था?
  • कंप्यूटर के बारे में रोचक जानकारी
  • कंप्यूटर की पीढियां
  • कंप्यूटर का फुल फॉर्म क्या है?
  • लैपटॉप का फुल फॉर्म क्या है?
  • सवाल – जवाब
  • निष्कर्ष

कंप्यूटर क्या है? / Computer Kya Hai?

कंप्यूटर एक इलेक्ट्रॉनिक डिवाइस है। जिसके माध्यम से हम कंप्यूटर को कुछ संकेत देते है। कुछ इनपुट देते है। और बदले में कंप्यूटर हमे उस इनपुट का आउटपुट देता है। हम कंप्यूटर में जो भी इनपुट देते है। कंप्यूटर हमे उसका आउटपुट फटाफट दे देता है।

सबसे पहले जो कंप्यूटर बनाया गया था। उसका कार्य केवल गणना करना था। कैलकुलेशन करना था। लेकिन उसी कंप्यूटर में समय-समय पर बदलाव होने लगे। प्रयोग होने लगे। और आज आप देख ही रहे है कंप्यूटर आज कितना उपयोगी व कंहा-कंहा इस्तेमाल किया जा रहा है।

कंप्यूटर का आविष्कार किसने किया था? / Computer Ka Avishkar Kisne Kiya Tha?

1830 के समय कंप्यूटर को बनाने की शुरुआत Charles Babbage के द्वारा की गयी थी। Charles Babbage ने एनालिटिकल इंजन (Analytical Engine) बनाने की प्लानिंग थी। जो की कंप्यूटर के क्षेत्र में एक शुरुवात थी।

उन्होंने फिर इस डिवाइस के लिए काम करना शुरू कर दिया। और उन्होंने डिफरेंस इंजन (Difference Engine) का आविष्कार किया। जिसे सबसे पहला प्रोग्रामेबल कम्प्यूटर (Programmable Computer) माना जाता है।

Charles Babbage ने 1833 में एनालिटिकल इंजन (Analytical Engine) का आविष्कार किया। जो की एक जनरल परपोज़ कंप्यूटर था। पर पैसो की कमी की वजह से इस काम को पूरा नहीं कर सके। और Charles Babbage की 1871 में मौत हो गई।

उसके 40 वर्ष बाद 1888 में Charles Babbage के बेटे Henry Babbage ने इस कार्य को पूरा किया। एनालिटिकल इंजन सभी प्रकार की कैलकुलेशन करता था।

John Vincent Atanasoff और Clifford Berry के द्वारा साल 1937 में ABC (Atanasoff-Berry Computer) का आविष्कार किया गया। जिसका उपयोग बहुत सारी कैलकुलेशन करने के लिए किया जाता था।

फिर पहला प्रोग्रामेबल कम्प्यूटर 1938 में बनाया गया। z1 जिसका नाम था। जिसे डिज़ाइन Konrad Zuse के द्वारा किया गया था।

1945 में दुनिया के सबसे पहले इलेक्ट्रॉनिक कंप्यूटर ENIAC (Electronic Numerical Integrator And Computer) का आविष्कार J.Presper Eckert और John Mauchly के द्वारा किया गया।

फिर 23 दिसंबर 1947 में William Shockley, John Bardeen, और Walter Houser Brattain के द्वारा ट्रांजिस्टर (Transistor) का आविष्कार किया गया। जो की कंप्यूटर के क्षेत्र में बहुत ही उपयोगी साबित हुआ। ट्रांजिस्टर (Transistor) के आ जाने के बाद कंप्यूटर की साइज में काफी बदलाव होने लगे।

जिस कंप्यूटर को रखने के लिए एक पूरे कमरे की आवश्यकता पड़ती थी। ट्रांजिस्टर (Transistor) के आ जाने के बाद से कंप्यूटर का साइज भी छोटा हो गया। जिसे आसानी से हैंडल किया जा सकता था।

दुनिया का सबसे पहला पर्सनल कंप्यूटर 1975 में Altair 8800 Ed Robert के द्वारा Introduce किया गया। पर 1971 में कई लोगो के द्वारा लांच किया गया था। दुनिया का सबसे पहला पर्सनल कंप्यूटर Kenbak-I माना जाता है।

Kenbak-I कंप्यूटर के लॉच के साथ कंप्यूटर क्षेत्र में एक नए टर्म पर्सनल कंप्यूटर को लांच किया गया। जिसे आज हम शार्ट फॉर्म में PC कहते है।

क्योंकि कंप्यूटर का आकार बड़ा था और इसे एक स्थान से दूसरे स्थान नहीं ले जाया जा सकता था। और ना ही इसे बिना बिजली के इस्तेमाल किया जा सकता था। इसलिए इस कमी को पूर्ण करने के लिए साल 1981 में Adam Osborne ने पहले लैपटॉप का आविष्कार किया।

क्योकि कंप्यूटर का साइज का बड़ा था। इसे एक जगह से दूसरी जगह नहीं ले जाया जा सकता था। और ना ही बिजली के बिना इसका उपयोग किया जा सकता था। इसलिए इस कमी को पूरा करने के लिए Adam Osborne ने 1981 में पहले लैपटॉप का आविष्कार किया।

लैपटॉप के लिए अलग से किसी पेरीफेरल डिवाइस (Peripheral Devices) की आवश्यकता नहीं थी। बल्कि इसमें पहले से ही टचपैड, कीबोर्ड, माउस, स्पीकर, माइक्रोफोन सभी फीचर मौजूद थे। मार्केट में लांच होते ही इसने बहुत सफलता हासिल कर ली।

जब मार्केट में इसे पहली बार लॉच किया गया। तब $795 लैपटॉप की कीमत थी। पर इसकी कीमत इतनी अधिक होने के बाद भी बहुत सारे लोगो ने इस लैपटॉप को ख़रीदा।

पहले इलेक्ट्रॉनिक कंप्यूटर का आविष्कार किसने व कब किया था?

विश्व के सबसे पहले इलेक्ट्रॉनिक कंप्यूटर का आविष्कार John Vincent Atanasoff ने किया था। साल 1945 में ENIAC (Electronic Numerical Integrator and Computer) का आविष्कार J. Presper Eckert (जे. प्रेस्पर एकर्ट) और John Mauchly (जॉन मौचली) ने किया था।

इसका आविष्कार उन्होंने university of Pennsylvania में किया था। और इसके डिज़ाइन व कंस्ट्रक्शन का पूरा खर्च US Military द्वारा उठाया गया था। यह तक़रीबन 1800 square feet में फैला हुआ था। 200 किलोवटस की इक्लेक्ट्रॉनिक पावर, लगभग 7000 रेसिस्टर्स (Resistors), 1000 कैपेसिटर्स (Capacitors) और 18000 वैक्यूम ट्यूब्स (Vaccum Tubes) का इस्तेमाल किया गया था। और इसका वजन तक़रीबन 50 टोन्स का था।

पर कईयों का यह मानना है की ABC कंप्यूटर पहला डिजिटल कंप्यूटर था। वही कईयों का यह भी मानना है की ENIAC ही पहला डिजिटल कंप्यूटर है ।

ऐसा इस वजह से है क्योकि वह पहला ऑपरेशनल इलेक्ट्रॉनिक डिजिटल कंप्यूटर (operational electronic digital computer) है। इसका उपयोग वेदर प्रेडिक्शन (weather prediction), एटॉमिक-एनर्जी (atomic-energy), कैलकुलेशन (calculations), थरमलिग्निशन (thermalignition)और दूसरे साइंटिफिक युसेस ( scientific uses) में किया जाता था।

पहले प्रोग्रामेबल कंप्यूटर का आविष्कार किसने किया था? और कहा पर किया था?

जर्मन सिविल इंजीनियर Konrad Zuse ने सन 1938 में दुनिया के पहले प्रोग्रामेबल बाइनरी ड्रिवेन मैकेनिकल कंप्यूटर (programmable binary driven mechanical computer) का आविष्कार किया था।

जिसका नाम उन्होंने Z1 रखा था। बहुत से लोग Konrad Zuse को मॉडर्न कंप्यूटर का जनक भी मानते है। इस कंप्यूटर को प्रोग्रामेबल किया जाता है। पंचेड़ टेप (punched tape) या पंचेड़ टेप रीडर (punched tape reader) के माध्यम से।

Z1 का वास्तविक नाम “V1” for VersuchsModell 1था। पर विश्व युद्ध 2 के बाद इसका नाम रीनेम कर दिया गया। Z1 लगभा 1000 किलोग्राम वेट की पतली मेटल शीट्स का उपयोग होता है। वो भी 20000 पार्ट्स के साथ।

Commercial Computer का आविष्कार किसने किया था?

विश्व के सबसे पहले Commercial Computer का आविष्कार साल 1951 में हुआ था। और इसका नाम UNIVAC I (Universal Automatic Computer I) रखा गया। यह वह पहला Commercial Computer था जो न्यूमेरिकल (numerical) व अल्फबेटिक (alphabetic) को मैनेज करने में सक्षम था।

इसे भी डिज़ाइन J. Presper Eckert (जे. प्रेस्पर एकर्ट) और John Mauchly (जॉन मौचली) के द्वारा ही किया गया था। जो की ENIAC (Electronic Numerical Integrator And Computer) के आविष्कारक थे।

इसमें वैक्यूम ट्यूब का उपयोग हुआ था। लिमिटेड स्पीड की कंप्यूटर मेमोरी और जिसका US मिलिट्री द्वारा इस्तेमाल किया जाता था।

इसकी इनपुट व स्टोरेज के लिए मैगनेटिक टेप या एक मैगनेटिक ड्रम का इस्तेमाल किया जाता था।

पहले इलेट्रॉनिक डिजिटल कंप्यूटर (Electronic Digital Computer) का आविष्कार किसने व कब किया था?

विश्व के सबसे पहले इलेट्रॉनिक डिजिटल कंप्यूटर का आविष्कार Dr.John V. Atanasoff और Clifford Berry के द्वारा आविष्कार किया गया था। और ABC (Atanasoff-Berry Computer) इसका नाम रखा गया था।

पहले पर्सनल कंप्यूटर का आविष्कार कब हुआ था?

1975 में दुनिया को पहले पर्सनल कंप्यूटर से परिचित करवाया गया था। Ed Robert ने ही इसका नाम सबसे पहले पर्सनल कंप्यूटर (PC) रखा था। और दुनिया के सामने उपस्तिथ हुआ। वरना पहले के कंप्यूटर को माइक्रो कंप्यूटर कहा जाता था।

कंप्यूटर नाम के अनुसार पहले कंप्यूटर का नाम क्या था?

Commodore: वर्ष 1977 में Commodore अपना पहला कंप्यूटर दुनिया के सामने लाया। जिसका नाम Commodore PET रखा गया।

Compaq: मार्च 1983 में Compaq ने अपना पहला कंप्यूटर Intoduce किया। जो की 100 प्रतिशत कम्पेटिबल कंप्यूटर। जिसका नाम Compaq Portable रखा गया।

Dell: Dell ने सन 1985 में अपने पहले कंप्यूटर से दुनिया को परिचित करवाया। जिसका नाम Turbo PC रखा गया।

Hewlett Packard: साल 1966 में अपना पहला जनरल कंप्यूटर Hewlett Packard ने रिलीज़ किया। जिसका नाम HP-2115 रखा गया।

NEC: वर्ष 1958 में NEC ने अपना फर्स्ट Computer बनाया। जिसका नाम NEAC 1101 रखा गया।

Toshiba: Toshiba ने सन 1954 में अपने पहले कंप्यूटर को दुनिया से परिचित करवाया। TAC डिजिटल कंप्यूटर जिसका नाम था।

किस सन में कंप्यूटर का आविष्कार हुआ था?

सबसे पहला मैकेनिकल कंप्यूटर साल 1822 में Charles Babbage द्वारा आविष्कार किया गया था। पर यह अभी के कप्यूटर की तरह बिलकुल भी नहीं दिखता था।

वहीँ साल 1837 में पहले जनरल मैकेनिकल कंप्यूटर Charles Babbage ने प्रस्तावित किया। जिसका नाम Analytical Engine रखा गया।

एक ALU (Arithmetic Logic Unit), बेसिक फ्लो कण्ट्रोल (basic flow control), पंच कार्ड्स (punch cards) (जो की इंस्पायर्ड थे Jacquard Loom से) और इंटीग्रेटेड मेमोरी (integrated memory) को स्थान दिया गया था।

यह पहला जनरल परपोज़ कंप्यूटर कांसेप्ट था। पर पैसो की कमी की वजह से इस कंप्यूटर को Charles Babbage के जीवित अवस्था में नहीं बनाया जा सका। मतलब उनकी मृत्यु हो गयी।

कंप्यूटर का आविष्कार कब व किसने किया था?

अगर साफ़-साफ़ शब्दों में कहा जाए तो कंप्यूटर का अविष्कार Charles Babbage के द्वारा ही किया गया था।

क्योकि इन्होने ही प्रोग्रामेबल कंप्यूटर तैयार किया था। डिफरेंशिअल इंजन नाम के मैकेनिकल कंप्यूटर का आविष्कार 1822 में Charles Babbage नें किया था। पर पैसे की कमी की वजह से वे इसे पूरा न कर सके।

पहले पर्सनल डेस्कटॉप कंप्यूटर का आविष्कार किसने किया?

विश्व में सबसे पहला डेस्कटॉप पर्सनल कंप्यूटर इटालियन कंपनी Olivetti ने 1964 में बनाया था। इसकी कीमत $3,200 उन्होंने रखी थी। जो आज के समय के हिसाब से लगभग 2 लाख रूपए था।

Atari Corporation ने सन 1985 में 520ST कंप्यूटर बनाया। यह 32 बिट का रंगीन कंप्यूटर था। इसमें 256 Kb RAM व 3 1⁄2-Inch की एक फ्लॉपी डिस्क (Floppy Disks) थी। जो स्टोरेज का काम करती थी।

इलेक्ट्रॉनिक कंप्यूटर का आविष्कार किसने किया था?

इलेक्ट्रॉनिक कंप्यूटर का आविष्कार जॉन विंसेंट एटनोसॉफ (John Vincent Atanasoff) द्वारा किया गया था।

लैपटॉप का आविष्कार किसने किया? / Laptop Ka Avishkar Kisne Kiya Tha?

लैपटॉप वाकई में एक बहुत ही बड़ा आविष्कार था। Adam Osborne ने सन 1981 में लैपटॉप का आविष्कार किया था।

Osborne 1 पहले लैपटॉप का नाम रखा गया। यह नाम आविष्कारक के नाम पर रखा गया। उस वक्त इसकी कीमत तक़रीबन $1500 थी। इसमें इसकी ही बहुत सी प्रोग्राम प्री-इन्सटाल्ड थी। साथ ही एक छोटी कंप्यूटर स्क्रीन भी इसपर बनी हुई थी। जिसका Osborne computers द्वारा आविष्कार किया गया था।

यह पहला पोर्टेबल कंप्यूटर बहुत ही बड़ी सफलता थी। जंहा कंपनी की सेल्स तक़रीबन 10000 हर महीने हो रही थी। उस वक्त के हिसाब से यह बहुत अधिक थी।

अन्य लैपटॉप

उसके बाद दूसरी कंपनियों ने इस आविष्कार को ध्यान में रखा। और कई नए लैपटॉप्स को लांच किया। जिसमे बहुत से नए फीचर्स मौजूद थे।

IBM: सन 1984 में IBM ने IBM 5155 पोर्टेबल पर्सनल कंप्यूटर लांच किया।

Compaq Computer: सन 1988 में Compaq Computer ने अपना पहला लॅपटॉप पर्सनल कंप्यूटर लांच किया। जिसमे VGA ग्राफ़िक्स दिया गया था। जिसका नाम Compaq SLT/286 रखा गया।

NEC: NEC ने भी UltraLite रिलीज़ किया। यह वह पहला लैपटॉप कंप्यूटर था। जिसका वजन 5 IBS से भी कम था। उसके बाद तो यह धीरे-धीरे और अधिक बेहतर होता गया।

भारत के पहले कंप्यूटर का नाम क्या है? / Bharat Ke Pahle Computer Ka Naam Kya Hai?

सबसे पहला Computer भारत (India) में वर्ष 1952 में कोलकाता में भारतीय विज्ञान संस्थान के अन्दर डॉ. द्विजिश दत्ता (Dr.Dwijish Dutta) द्वारा लाया गया था।

जो कंप्यूटर एक Analog Computer (एनालोग कंप्यूटर) था। और उसके बाद बेंगलूर में भारतीय विज्ञान संस्थान (Indian Institute of Science) में एक और एनालोग कंप्यूटर (Analog Computer) लगाया गया था।

पर भारत में कंप्यूटर युग की शुरुआत तो वास्तव में साल 1956 में हुई जब डिजिटल कंप्यूटर HEC – 2M कोलकाता भारतीय विज्ञान संस्थान के अन्दर लगाया गया था। और यह इंडिया / भारत का पहला इलेक्ट्रोनिक कंप्यूटर था।

इस कंप्यूटर के आने के बाद भारत (India), जापान (Japan) एशिया का दूसरा ऐसा देश बन गया था। जो की कंप्यूटर टेक्नोलॉजी का उपयोग कर रहा था।

फिर भारतीय सांख्यिकी संस्थान कोलकाता में “URAL” नामक एक कंप्यूटर साल 1958 में लगाया गया। जिसका आकर HEC – 2 M से भी बड़ा था। और रूस से इस कंप्यूटर को ख़रीदा गया था। और इन दोनों कंप्यूटर का वर्ष 1964 में उपयोग बंद कर दिया।

क्योकि IBM ने उस वक्त अपना पहला कंप्यूटर IBM 1401 भारतीय सांख्यिकी संस्थान कोलकाता में लगाया। जो की IBM 1400 सीरीज का फर्स्ट कंप्यूटर था। जो की एक डाटा प्रोसेसिंग सिस्टम (Data Processing System) कंप्यूटर था। जिसे सन 1959 में IBM ने बनाया था।

भारत में कंप्यूटर कब बना? / India Me Computer Kab Bana

अभी तक जितने भी कंप्यूटर बनाए गए थे। वे सभी दूसरे देशों ने बनाए थे। भारत में एक भी कंप्यूटर नही बना था। मतलब भारत में पहले जितने भी कंप्यूटर लगाए गए थे। उनको दूसरे देशों से खरीदा गया था। पर भारत की दो संस्थाओं भारतीय सांख्यिकी संस्थान तथा जादवपुर यूनिवर्सिटी द्वारा मिलकर सन 1966 में भारत के अन्दर पहला कंप्यूटर बनाया गया। जिसका नाम ISIJU रखा गया।

HEC – 2M तथा ISIJU दोनों के बीच एक अंतर था। URAL HEC – 2M तथा URAL दोनों ही वैक्यूम ट्यूब (Vaccum Tube) युक्त कंप्यूटर थे। जबकि ISIJU एक ट्रांजिस्टर युक्त कंप्यूटर था। और उसके बाद तो कंप्यूटर भारत में ही बनने लगे।

भारत का पहला सुपर कंप्यूटर कौन सा है? और किसने बनाया था?

‘PARAM 8000” भारत का पहला सुपर कंप्यूटर था। PARAM का फुल फॉर्म Parallel Machine (पैरेलल मशीन) है। C-DAC (Centre for Development of Advanced Computing) ने इस कंप्यूटर को बनाया था। और इसमें Architect Vijay P.Bhatkar (आर्किटेक्ट विजय पी.भटकर) का बहुत बड़ा योगदान रहा है।

साल 1991 में – PARAM 8000
साल 1998 में – PARAM 10000 को बनाया गया था।

PARAM 8000 की रेटिंग तक़रीबन 1 Gigaflop (billion floating-point operations per second) थी। सभी चिप व दूसरे एलिमेंट्स जिनका उपयोग PARAM को बनाने के लिए किया गया। उन्हें ओपन डोमेस्टिक मार्किट से ही ख़रीदा गया था।

इस PARAM सुपर कम्प्युटर के कुछ मेजर एप्लीकेशन भी थे। जैसे की लॉन्ग रेंज वेदर फोरकास्टिंग, रिमोट सेंसिंग, ड्रग डिज़ाइन व मॉलिक्यूलर मॉडलिंग।

कंप्यूटर का आविष्कार भारत में कब हुआ था?

कंप्यूटर का भारत में अविष्कार सन 1966 में हुआ। जिसका नाम “ISIJU” रखा गया।

भारत में पहला कंप्यूटर कहाँ और कब लगाया गया था?

भारत ने अपने लिए पहला कंप्यूटर सन 1956 में लगभग 10 लाख रुपये में ख़रीदा था। जिसका नाम HEC-2M था। और इसे कलकत्ता के इंडियन स्टैटिस्टिकल इंस्टिट्यूट में स्थापित किया गया था।

यह एक बड़ी नंबर कृचिंग मशीन से अधिक और कुछ भी नहीं थी। इसकी लम्बाई 10 FT, चौड़ाई 7 FT व ऊंचाई 6 FT थी।

इसने उस समय बड़ा ही क्रिटिकल रोल निभाया। एनुअल व 5 इयर्स प्लान्स को Formulate करने में प्लानिंग कमीशन के द्वारा व साथ ही भारत के टॉप सीक्रेट नुक्लेअर प्रोजेक्ट्स में भी।

यह भारत का पहला फर्स्ट जनरेशन कंप्यूटर था। और इसने ही भारत में कंप्यूटर डेवलपमेंट की नीवं रखी थी।

कंप्यूटर की पीढियां

कंप्यूटर की पहली पीढ़ी – – 1940-1956 “वैक्यूम ट्यूब्स”

सबसे पहले जनरेशन के कंप्यूटर वैक्यूम ट्यूब्स को सर्किटरी व मैग्नेटिक ड्रम को मेमोरी के लिए उपयोग करते थे। यह साइज में काफी बड़े हुआ करते थे। साथ ही इनको चलाने में काफी शक्ति का इस्तेमाल करना पड़ता था।

अधिक बड़ा होने की वजह से इसमें हीट की भी बहुत समस्या थी। जिससे यह कई बार मॉलफंक्शन भी होता था। इनमे मशीन भाषा का उपयोग होता था। उदाहरण के तोर पर UNIVAC and ENIAC कम्प्यूटर्स।

पहली पीढ़ी के मुख्य कंप्यूटर के नाम –  UNIVAC, ENIAC, EDVAC इत्यादि।

कंप्यूटर की सेकंड पीढ़ी – 1956-1963 “ट्रांसिस्टर्स (Transistors) ”

सेकंड जनराशनं के कम्प्यूटर्स में ट्रांसिसिटर्स ने वैक्यूम ट्यूब्स की जगह ले ली थी। ट्रांजिस्टर बहुत ही काम जगह घेरते थे। छोटे, सस्ते, फास्टर व अधिक एनर्जी एफ्फिसिएंट थे। यह पहले जनरेशन की तुलना में काम ही जनरेट करते थे। पर इसमें हीट की समस्या अभी भी थी.

इनमे हाई लेवल प्रोग्रामिंग लैंग्वेज जैसे COBOL और FORTRAN को इस्तेमाल में लाया गया था।

दूसरी पीढ़ी के मुख्य कंप्यूटर: UNIVAC 1108, Honeywell 400, IBM 7094, CDC 1604, इत्यादि।

कंप्यूटर की तीसरी पीढ़ी / तीसरी पीढ़ी के कंप्यूटर – 1964-1971 “इंटीग्रेटेड सर्किट्स (Integrated Circuits)”

थर्ड जनरेशन के कंप्यूटर में पहली बार इंटीग्रेटेड सर्किट्स का उपयोग किया गया था। जिसमे ट्रांज़िस्टर्स को छोटे छोटे कर सिलिकॉन चिप के अन्दर डाला जाता था। जिसे सेमि कंडक्टर कहा जाता है। इससे यह लाभ हुआ है की Computer की प्रोसेसिंग (processing) करने की कैपेसिटी काफी हद तक बढ़ गयी।

पहली बार इस जनरेशन के कम्प्यूटर्स को अधिक यूजर फ्रेंडली बनाने के लिए मॉनीटर्स, कीबोर्ड और ऑपरेटिंग सिस्टम का इस्तेमाल किया गया। इसे पहली बार मार्केट में लांच किया गया।

तीसरी पीढ़ी के कुछ मुख्य कंप्यूटर: PDP, TDC-316, IBM 360, ICL 2900, इत्यादि।

 कंप्यूटर की चौथी पीढ़ी – 1971-1985 “माइक्रोप्रोसेसर्स ”

फोर्थ जनरेशन की यह खासियत है की इसमें माइक्रोप्रोसेसर का इस्तेमाल किया गया। जिसमे हजारो इंटीग्रेटेड सर्किट को एक ही सिलिकॉन चिप में अन्तर्निहित किया गया। इससे मशीन के आकार को छोटा करने में बहुत आसानी हुई।

कंप्यूटर की दक्षता माइक्रोप्रोसेसर के इस्तेमाल से और भी बढ़ गयी। यह बहुत ही कम वक्त में बड़े बड़े कैलकुलेशन कर पा रहा था।

चतुर्थ पीढ़ी के कंप्यूटर: IBM 4341, DEC 10, STAR 1000, CRAY-1, PDP 11, इत्यादि।

 कंप्यूटर की पांचवीं पीढ़ी – 1985- प्रेजेंट “आर्टिफीसियल इंटेलिजेंस”

पांचवे जनरेशन आज का दौर है। जंहा आर्टिफीसियल इंटेलिजेंस ने अपना दबदबा कायम कर लिया है। अब नयी नयी टेक्नोलॉजी जैसे स्पीच रिकग्निशन (Speech recognition), पैरेलल प्रोसेसिंग (Parallel Processing), क्वांटम कैलकुलेशन (Quantum Calculation) जैसे कई एडवांस्ड तकनीक इस्तेमाल में आने लगी है।

यह एक ऐसा जनरेशन है। जंहा कंप्यूटर की आर्टिफीसियल इंटेलिजेंस (Artificial Intelligence) होने की वजह से डिसिशन लेने की क्ष्य्मता आ चुकी है। धीरे धीरे इसके सारे कार्य ऑटोमेटेड हो जाएंगे।

पांचवी पीढ़ी के कंप्यूटर: Desktop ( डेस्कटॉप), Laptop (लैपटॉप), Notebook, Ultrabook इत्यादि।

कंप्यूटर का फुल फॉर्म क्या है? / Computer Ka Full Form Kya Hai?
कंप्यूटर का फुल फॉर्म कॉमन ओरिएंटेड मशीन पर्टिक्यूलरी यूज़्ड अंडर टेक्निकल एंड एजुकेशनल रिसर्च (Machine Particulars Used Under Technical And Educational Research) है।

C – Common
O – oriented
M – machine
P – particularly
U – used under
T – technical and
E – educational
R – research

लैपटॉप का फुल फॉर्म क्या है? / Laptop Ka Full Form Kya Hai?
लैपटॉप का फुल फॉर्म लाइटवेट एनालिटिकल प्लेटफार्म टोटल ऑप्टीमाइज़्ड पावर (Lightweight Analytical Platform Total Optimized Power) है।

L – Lightweight

A – Analytical

P – Platform

T – Total

O – Optimized

P – Power

कंप्यूटर के बारे में रोचक जानकारी

  • कंप्यूटर माउस (computer mouse) सर्वप्रथम लकडी का बनाया गया था।
  • हर महीने 5000 कंप्यूटर वायरस (Computer Viruses) बनाए जाते है।
  • 17 बिलियन डिवाइस में अब तक इंटरनेट का प्रयोग किया चुका है।
  • दुनिया की पहली हार्डडिस्‍क में मात्र 5 MB डाटा स्‍टोर किया जा सकता था।
  • कम्‍प्‍यूटर स्‍क्रीन (computer screen) में नजर आने वाले सभी द्रश्य मात्र 3 रंगों (लाल, हरा, नीला) से मिलकर बने होते हैं।
  • सर्वप्रथम 1980 में दुनिया के पहले कंप्यूटर मॉनिटर का इस्तेमाल किया गया था।
  • साल 1968 में कंप्यूटर Keyboard का अविष्‍कार किया गया था।
  • फ़्लॉपी डिस्क का प्रयोग सीडी, डीवीडी और पेन ड्राइव से पहले बाहरी डाटा आदान प्रदान करने के लिए किया जाता था।
  • सबसे पहली फ़्लॉपी डिस्क का अविष्‍कार साल 1970 में हुआ था। सिर्फ 75.79 KB जिसकी स्‍टोरज क्षमता थी।
  • दुनिया में सबसे अधिक इस्तेमाल किया जाना वाला USB हार्डवेयर पेन ड्राइव साल र् 1999 में अस्तित्‍व में आया। पर
  • साल 2000 में इसे बाजार में उतारा गया था। उस वक्त केवल आठ MB इसकी स्‍टोरेज क्षमता थी।
  • सर्वप्रथम बनायी गयी RAM (रैम) की स्टोरेज कैपेसिटी केवल 46 Kb ही थी।
  • इंटरनेट पर मौजूद सारी जानकारियाँ का 80% इंग्लिश भाषा में है।
  • जब डीवीडी और पेन ड्राइव नहीं थे। तब फ्लॉपी डिस्क (Floppy disks) का इस्तेमाल डेटा को एक कंप्यूटर से दूसरे कंप्यूटर में भेजने के लिए किया जाता था।
  • सबसे बड़ी स्पेस संस्था NASA की वेबसाइट को एक बार 15 साल के बच्चे ने हैक कर लिया था। जिस वजह से 21 दिन तक NASA का काम बंद हो गया था।
  • साल 1956 में आईबीएम (IBM) ने एक हार्ड डिस्क (Hard Disk) बनाई। जिसका नाम 305 RAMAC रखा गया था।
  • जिसका Weight (वजन) तो टन में था। लेकिन डेटा केवल 5Mb तक ही स्टोर कर सकती था।
  • कंप्यूटर बहुत ही फ़ास्ट होता है। यह लगभग 38 हजार ट्रिलियन ऑपरेशन (गणना) 1 Second में कर सकता है।
  • हम जिस कीबोर्ड का उपयोग करते है। उसे QWERTY कीबोर्ड कहते है। इसका नाम ऐसा इसलिए है क्योकि कीबोर्ड की पहली पंक्ति के शुरू के छ: अल्फाबेट QWERTY होता है।
  • कंप्यूटर के हार्डवेयर को सॉफ्टवेयर से इंटरफ़ेस करने में DOS (डिस्क ऑपरेटिंग सिस्टम) सहायता करता है।
  • आज के समय के Frame Digital Computer की क्षमता 10-20 MIPS है।

सवाल – जवाब

  1. कंप्यूटर का आविष्कार किसने किया था?
    चार्ल्स बैबेज (Charles Babbage) ने Computer का आविष्कार किया था।
  2. कंप्यूटर क्या है?
    कंप्यूटर एक इलेक्ट्रॉनिक डिवाइस है। जिसके माध्यम से हम कंप्यूटर को कुछ संकेत देते है। कुछ इनपुट देते है। और बदले में कंप्यूटर हमे उस इनपुट का आउटपुट देता है। हम कंप्यूटर में जो भी इनपुट देते है। कंप्यूटर हमे उसका आउटपुट फटाफट दे देता है।
  3. पहला प्रोग्रामेबल कम्प्यूटर कब बनाया गया?
    1938 में पहला प्रोग्रामेबल कम्प्यूटर बनाया गया। z1 जिसका नाम था।
  4. इलेक्ट्रॉनिक कंप्यूटर का आविष्कार किसने किया था?
    1945 में दुनिया के सबसे पहले इलेक्ट्रॉनिक कंप्यूटर ENIAC (Electronic Numerical Integrator And Computer) का आविष्कार J.Presper Eckert और John Mauchly के द्वारा किया गया।
  5. सबसे पहले पर्सनल कंप्यूटर का नाम क्या था?
    दुनिया का सबसे पहला पर्सनल कंप्यूटर Kenbak-I माना जाता है। Kenbak-I कंप्यूटर के लॉच के साथ कंप्यूटर क्षेत्र में एक नए टर्म पर्सनल कंप्यूटर को लांच किया गया। जिसे आज हम शार्ट फॉर्म में PC कहते है।
  6. लैपटॉप का आविष्कार किसने किया था?
    1981 में Adam Osborne ने लैपटॉप का आविष्कार किया।
  7. पहले इलेक्ट्रॉनिक कंप्यूटर का आविष्कार कब व किसने किया था?
    विश्व के सबसे पहले इलेक्ट्रॉनिक कंप्यूटर का आविष्कार John Vincent Atanasoff ने किया था। साल 1945 में ENIAC (Electronic Numerical Integrator and Computer) का आविष्कार J. Presper Eckert (जे. प्रेस्पर एकर्ट) व John Mauchly (जॉन मौचली) ने किया था।
  8. पहला डिजिटल कंप्यूटर कौन-सा था?
    ABC कंप्यूटर पहला डिजिटल कंप्यूटर था। वही कईयों का यह भी मानना है की ENIAC ही पहला डिजिटल कंप्यूटर है ।
  9. पहले प्रोग्रामेबल कंप्यूटर का आविष्कार किसने किया था? और कहा पर किया था?
    जर्मन सिविल इंजीनियर Konrad Zuse ने सन 1938 में दुनिया के पहले प्रोग्रामेबल बाइनरी ड्रिवेन मैकेनिकल कंप्यूटर (programmable binary driven mechanical computer) का आविष्कार किया था। जिसका नाम उन्होंने Z1 रखा था।
  10. Commercial Computer का आविष्कार किसने किया था?
    विश्व के सबसे पहले Commercial Computer का आविष्कार साल 1951 में हुआ था। और इसका नाम UNIVAC I (Universal Automatic Computer I) रखा गया। इसे भी डिज़ाइन J. Presper Eckert (जे. प्रेस्पर एकर्ट) व John Mauchly (जॉन मौचली) के द्वारा ही किया गया था। जो की ENIAC (Electronic Numerical Integrator And Computer) के आविष्कारक थे।
  11. पहले इलेट्रॉनिक डिजिटल कंप्यूटर (Electronic Digital Computer) का आविष्कार किसने व कब किया था?
    विश्व के सबसे पहले इलेट्रॉनिक डिजिटल कंप्यूटर का आविष्कार Dr.John V. Atanasoff और Clifford Berry के द्वारा आविष्कार किया गया था। और ABC (Atanasoff-Berry Computer) इसका नाम रखा गया था।
  12. पहले पर्सनल कंप्यूटर का आविष्कार कब हुआ था?
    1975 में दुनिया को पहले पर्सनल कंप्यूटर से परिचित करवाया गया था। Ed Robert ने ही इसका नाम सबसे पहले पर्सनल कंप्यूटर (PC) रखा था। और दुनिया के सामने उपस्तिथ हुआ। वरना पहले के कंप्यूटर को माइक्रो कंप्यूटर कहा जाता था।
  13. किस सन में कंप्यूटर का आविष्कार हुआ था?
    सबसे पहला मैकेनिकल कंप्यूटर साल 1822 में Charles Babbage द्वारा आविष्कार किया गया था। वहीँ साल 1837 में पहले जनरल मैकेनिकल कंप्यूटर Charles Babbage ने प्रस्तावित किया। जिसका नाम Analytical Engine रखा गया।
  14. पहले पर्सनल कंप्यूटर का आविष्कार कब हुआ था?
    1975 में दुनिया को पहले पर्सनल कंप्यूटर से परिचित करवाया गया था। Ed Robert ने ही इसका नाम सबसे पहले पर्सनल कंप्यूटर (PC) रखा था। और दुनिया के सामने उपस्तिथ हुआ। वरना पहले के कंप्यूटर को माइक्रो कंप्यूटर कहा जाता था।
  15. इलेक्ट्रॉनिक कंप्यूटर का आविष्कार किसने किया था?
    इलेक्ट्रॉनिक कंप्यूटर का आविष्कार जॉन विंसेंट एटनोसॉफ (John Vincent Atanasoff) द्वारा किया गया था।
  16. भारत में कंप्यूटर कब बना?
    भारत की दो संस्थाओं भारतीय सांख्यिकी संस्थान (Indian Statistical Institute) तथा जादवपुर यूनिवर्सिटी द्वारा मिलकर सन 1966 में भारत के अन्दर पहला कंप्यूटर बनाया गया। जिसका नाम ISIJU रखा गया।
  17. भारत का पहला सुपर कंप्यूटर कौन सा है? और किसने बनाया था?
    ‘PARAM 8000” भारत का पहला सुपर कंप्यूटर था। PARAM का फुल फॉर्म Parallel Machine (पैरेलल मशीन) है। C-DAC (Centre for Development of Advanced Computing) ने इस कंप्यूटर को बनाया था। और इसमें Architect Vijay P.Bhatkar (आर्किटेक्ट विजय पी.भटकर) का बहुत बड़ा योगदान रहा है।
  18. कंप्यूटर का आविष्कार भारत में कब हुआ था?
    कंप्यूटर का भारत में अविष्कार सन 1966 में हुआ। जिसका नाम “ISIJU” रखा गया।
  19. भारत में पहला कंप्यूटर कहाँ और कब लगाया गया था?
    भारत ने अपने लिए पहला कंप्यूटर सन 1956 में लगभग 10 लाख रुपये में ख़रीदा था। जिसका नाम HEC-2M था। और इसे कलकत्ता के इंडियन स्टैटिस्टिकल इंस्टिट्यूट में स्थापित किया गया था।
  20. भारत के पहले कंप्यूटर का नाम क्या है? 

    सबसे पहला Computer भारत (India) में वर्ष 1952 में कोलकाता में भारतीय विज्ञान संस्थान के अन्दर डॉ. द्विजिश दत्ता (Dr.Dwijish Dutta) द्वारा लाया गया था। जो कंप्यूटर एक Analog Computer (एनालोग कंप्यूटर) था। और उसके बाद बेंगलूर में भारतीय विज्ञान संस्थान (Indian Institute of Science) में एक और एनालोग कंप्यूटर (Analog Computer) लगाया गया था।

निष्कर्ष

हम आशा करते है की आपको Information And Knowledge द्वारा इस आर्टिकल कंप्यूटर का आविष्कार किसने किया था / Computer Ka Avishkar Kisne Kiya Tha में दी गयी जानकारी पसंद आयी होगी। हमने इस आर्टिकल में आपको कंप्यूटर क्या है?, कंप्यूटर का आविष्कार किसने किया था?, भारत में कंप्यूटर कब आया था?, इंडिया में कंप्यूटर का आविष्कार कब हुआ था? आदि की पूरी जानकारी देने की हमने कोशिश की है।

आपको यह आर्टिकल कैसा लगा। हमे कमेंट करके जरूर बताए। अगर आपके मन में कोई सवाल है। तो आप हम से पूछ सकते है।

Thank You For Reading

%d bloggers like this: